नमस्ते

नमस्ते ,

https://www.facebook.com/ranbir.tangri.5?sk=wall

नमस्ते हम सभी भारतीयों का प्राचीनतम सर्वोत्तम अभिवादन है । नमस्ते – – मुखयतः दो पदों नमः + ते के मेल से बनता है । साधारणतया इसका अर्थ है कि मेरा आपको नमन है । जो लोग वेद शास्त्र को नहीं जानते वे कहते हैं कि छोटा बड़ों को नमस्ते करे और बड़ा आशीर्वाद दे । कोई कोई कहता है कि छोटा बड़े को नमस्ते न करे । ऐसे लोगों को यजुर्वेद का 16 /32 मन्त्र देखना चाहिए – – ‘ नमोज्येष्ठाय च कनिष्ठाय च नमः पूर्वजाय चापरजाय च नमो मध्यमाय चापगल्भाय च नमो जघन्याय च बुध्न्याय च ‘ अर्थात छोटे को नमन , बड़े को नमन , पहले उत्पन्न हुए को नमन , बाद में उत्पन्न हुए को नमन मध्यम को नमन , अप्रौढ़ को नमन , नीच को नमन , ज्ञानी को नमन । तात्पर्य यह है की सभी का यथायोग्य अभिवादन / सत्कार करना चाहिए ।
कठोपनिषद 1 / 1 / 9 में यमाचार्य ने नचिकेता को नमस्ते कहा है :- – नमस्तेsस्तु प्रति ते त्रीन वरानं वृनीप्व । यह बड़े का छोटे को नमस्ते है । इसी प्रकार आर्ष साहित्य एवं पुराणों में छोटों के द्वारा बड़ों को और बड़ों के द्वारा छोटों को नमस्ते करने का वर्णन मिलता है । हाँ इतनी बात अवश्य है कि छोटे पहले बड़ों को नमस्ते करें यह एक शिष्टाचार माना जाता है ।
मनु 2 / 117 / 120 , नमस्ते अव्यय एक पद भी है जैसे – – अघोरेभ्योsथ घोरेभ्यो घोराघोरतरेभ्यश्च । सर्वतः सर्व सर्वेभ्यो नमस्ते रुद्ररूपीभ्यः (रसेन्द्रसार संग्रह ,रसशोधन संस्करण ) अर्थात अघोर , घोर , घोरतर , अघोरतर , सब ओर से सरकने वाले रुद्ररूप रोग हेतुओं को नमस्ते । यदि यह एक पद न होता तो यहां नमस्ते के स्थान पर नमोस्तु होता । यजुर्वेद – – 36 / 20 में ‘ नमस्ते भगवन्नस्तु ‘ से स्पष्ट है कि छूटों के द्वारा बड़ों को नमस्ते का प्रतिपादन है । महाभारत में शकुनि बड़ा होते हुए युधिष्ठर को नमस्ते कहते हैं – -‘ ज्येष्ठो राजन वरिष्ठोसि नमस्ते भरतर्षभ ‘ । महाभारत युद्ध के बाद महर्षि शाकल्य ने धृतराष्ट्र को नमस्ते कहा (महा. आश्रमवासिक , 12 / 50 , दक्षि ) जबकि एक महर्षि का दर्जा कितना बड़ा है और धृतराष्ट्र एक क्षत्रिय हैं लेकिन महर्षि ने नमस्ते की थी । बाल्मीक रामायण अरण्यकाण्ड , 55 / 28 सीता द्वारा वृक्ष को नमस्ते की गयी है – – – ‘ नमस्तेsस्तु महावृक्ष ‘ । अब तो कोई संशय नहीं रह जाना चाहिए कि नमस्ते हमारे लिए सुन्दर अभिवादन है ।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s