Mulla Naseeruddin ke arya samaj se prashn

http://www.islamhinduism.com/responses/arya-samaj/314-arya-sasmaj-questions-veda

Mulla Naseeruddin :

Answering Arya Samaj

आर्यसमाज से कुछ सवाल वेद के बारे में

सवाल 1

आपके गुरु स्वामी दयानन्द ने सत्यार्थ प्रकाश समुल्लास 5 (सन्यासविधि) के अंतर्गत वेदों से सन्यास को साबित करने के लिए यूं लिखा है

“और वेदों में भी ‘यतयः ब्राह्मणस्य विजानतः’ इत्यादि पदों से सन्यास का विधान है।

मैं आर्यों से पूछता हूँ कि यह मंत्र ‘यतयः ब्राह्मणस्य विजानतः’ वेदों से निकाल कर दिखाएँ हवाले के साथ। यदि नहीं दिखा सकते तो तुम जानते ही हो क्या साबित होगा। मैं बोलूँ ग तो पंडित जी फिर शिकायत करेंगे।

जवाब की प्रतीक्षा।

……………………………..

आर्य सिद्धान्ती :
यतय: = यद्देवा यतयो यथा भुवानान्यपिन्वत। अत्र समुद्रमा गूढ्मा सॊर्यमज्भर्तन – ऋग्वेद १०/७२/७
य इंद्र यतयस्त्वा भृगवो ये च तुष्टुवु : ममेदुग्र श्रुधी हवम – ऋग्वेद ८/६/१८

ब्राह्मणस्य के स्थान पर ब्राह्म्णास : है = ऋग्वेद ७ /१०३/८ – ब्राह्म्णास : सोमिनो वाचमक्रत ब्रह्मकृन्वंत : परिवत्सरीणम

विजानत: = यस्मिन्त्सर्वानि भूतान्यात्मैवाभूद विजानत : तत्र को मोह : क : शोक एकत्वमनुपश्यते यजुर्वेद ४०/७

…………………….

Mulla naseeruddin:

सवाल 2

आर्यसमाज और विशेषतः पंडित महेन्द्रपाल से एक सवाल

आपके गुरु स्वामी दयानन्द ने सत्यार्थ प्रकाश समुल्लास 8 में सृष्टि के आदि में अनेक अर्थात सैकड़ों, हजारों मनुष्यों का उत्पन्न होना लिखा है। वेद से इस दावे का प्रमाण मांगने पर उन्होने झट से बोल दिया कि यजुर्वेद में लिखा है

मनुष्या ऋषयश्च ये। ततो मनुष्या अजायन्त

मैं आर्यों से पूछता हूँ कि यह मंत्र यजुर्वेद से निकाल कर दिखाएँ। कोनसे अध्याय का कोनसा मंत्र है? यदि नहीं दिखा सकते तो साबित होगा कि स्वामी दयानन्द ने वेद के बारे में झूठ बोला था और अपना ही फर्जी मंत्र बनाकर यजर्वेद में डाल दिया।

……………….

आर्य सिद्धान्ती :  यजुर्वेद ३१/९ – तं यज्ञं बर्हिषि प्रौक्षम पुरुषम जातमग्रत :   तेन देवा अयजन्त साध्या  ॠषयश्रच  ये

मनुष्या := मुण्डक २/१/७ – तस्माच्च देवा बहुधा सम्प्रसूता : साध्या: मनुष्या : पशवो वयांसि
ऋषयश्च ये = यजु ३१/९ -साध्या: –> योगाभ्यास आदि साधन करते लोग
ततो मनुष्या अजायन्त = शतपथ ब्राह्मण १४/३/२/५

ऋषि दयानंद झूठा नहीं है तू झूठा है देख प्रमाण : https://yasharya.wordpress.com/2013/06/12/mulla-naseeruddin-and-his-lies/

Do enlighten urself by reading  ali sina’s expose about your guru too

http://www.faithfreedom.org/challenge/pedophile.htm

http://www.faithfreedom.org/challenge/rapist.htm

One can find the proof of birth of many people in the 1st creation here :

https://yasharya.wordpress.com/2012/10/11/all-the-followers-of-abraham-judaism-christianity-islam-are-children-of-incest-short-version/

namaste

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s